कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए रेलवे ने भी अपने अस्पतालों में तैयारी शुरू कर दी है। तीन महीने के लिए युद्धस्तर पर काम करने के लिए डॉक्टर, पैरा मेडिकल स्टाफ सहित अन्य कर्मचारियों की बहाली शुरू कर दी गई है।

पूर्व रेलवे के अलग-अलग अस्पतालों में बहाली की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इनमें से एक बड़ा अस्पताल भागलपुर क्षेत्र के जमालपुर में भी है।जमालपुर में 10 डॉक्टर, 10 स्टाफ नर्स, 4 फार्मासिस्ट रखे जाएंगे। अभी अगले तीन महीने के लिए अस्थायी बहाली की जा रही है। कोरोना के मद्देनजर चिकित्सा संसाधनों को मजबूत करने के लिहाज से यह कवायद शुरू की गई है। पूरे पूर्व रेलवे में 40 से अधिक डॉक्टरों की बहाली की जा रही है जबकि इससे अधिक स्टाफ नर्स की बहाली है।

डिवीजन में जमालपुर रेलवे अस्पताल के अलावा डिवीजन मुख्यालय मालदा में संसाधन बढ़ाये जा रहे हैं। रेलवे अस्पताल भागलपुर में भी है लेकिन इस अस्पताल का दर्जा स्वास्थ्य केन्द्र का है। हालांकि कोरोना संकट को देखते हुए इस अस्पताल में भी विशेष परिस्थिति के मद्देनजर मरीज भर्ती किये जा सकते हैं। इसमें आईसीयू सुविधा को ज्यादा कारगर बनाया जा रहा है।

कोरोना संकट के मद्देनजर त्वरित कार्रवाई करते हुए अस्थायी बहाली निकाली गई है। जोन के सभी अस्पतालों को बेहतर सुविधाओं से लैस करने की तैयारी चल रही है। - निखिल चक्रवर्ती, सीपीआरओ पूर्व रेलवे।